Na Tumhe Pata Na Humein Pata | Dard Shayari| Love shayari | 2020

|| मिलना मुक़द्दर में कब हुआ ना तुम्हे पता ना हमें पता,
मुलाकातों के चलते प्यार कब हुआ ना तुम्हे पता ना हमें पता,
अब रास्ते अलग अलग होने लगे , क्यों? ना तुम्हे पता ना हमें पता,
बिछड़ जाऐगे किसी रोज़ फिर मिलना कब होगा , ना तुम्हे पता ना हमें पता ||

 

Na Tumhe Pata Na Humein Pata | Dard Shayari| Love shayari | 2020 1

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *