Love Shayari in Hindi | Na Jane Kab Ye Naya Sa Eahsas

ना जाने कब ये नया सा एहसास हुअा है,
कितने लमहो के बाद कोई इतना खास हुआ है I

पता नही मुझे कैसे ,तुझमे ही कही खो सा गया हूँ ,
बना लिया है तुझे रब अपना और तेरा हो सा गया हूँ |

दिल की कुछ बाते है जो , आज कह देना चाहता हुँ
हर पल हर सुख दुख तेरे साथ रहना चाहता हुँ

मन हल्का हुआ सब कह कर, कुछ तुम भी कह लो,
रहना है बस तेरा होकर, बस अब तुम भी मेरे होकर रह लो |

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *